लक्ष्य स्थापित करने का महत्व

लक्ष्य




Goal
लक्ष्य अर्थात् उदेश्य या मंज़िल I प्रत्येक मनुष्य के जीवन का कोई ना कोई उदेश्य होता है I जिसे पूरा करने क लिए वो हर तरह कि कोशिश करता है l

हमारे और आपके जीवन मे लक्ष्य का होना अति आवश्यक है  l वास्तव मे अगर हमारे जीवन मे लक्ष्य ही नही होगा तो हम सदैव जीवन की भूल भुलिया मे यूही भटकते रहेगें   l हम और आप जैसे लोग जन्म से सपने साथ लेकर पैदा होते है I बचपन से ही हम सभी के कुछ सपने होते है   l कोई डाक्टर बनना चाहता हैं तो कोई इंजिनियर कोई पायलट तो कोई सैनिक   l इन्ही सपनो के साथ हम सब बड़े होते हैं I क्या हम सभी अपने लक्ष्य को पूरा कर पाते है ? शायद नही !! हममे से ५० प्रतिशत लोग ही ऐसे होते है जो अपने लक्ष्य को पूरा कर पाते है l  बिना लक्ष्य के जीवन अधूरा होता हैं   l ज़रा ध्यान लगा के सोचिए अगर हमे ये ही नही पता होगा के हमे जाना कहा है तो हम क्या करेगें? लक्ष्य जीवन को दिशा देता हैं I ज़हन में अगर लक्ष्य साफ हो तो रास्ते भी साफ नज़र आते है  l

 क्या करे लक्ष्य को पाने क लिए?

  1. अपना ध्यान अपने लक्ष्य पे केंद्रित रखे
  2. अपने आप मे हमेशा विश्वास रखे
  3. अपनी सोच को हमेशा सकारात्मक रखे
  4. अपने सपनो को हर रोज जीयें
  5. उन्हे पाने की कभी भी  उम्मीद ना छोड़े

क्या ना करे ?

  1. अपने लक्ष्य को ज़्यादा बड़ा ना रखे, बड़े लक्ष्य को पाने क लिए छोटे उदेश्य निर्धारित करे
  2. समय का ध्यान रखे
  3. अपनी असफलता से सीख ले

हमारे सपने हमे जीने की प्रेरणा देते हैं I मुश्किलों से लड़ना सीखाते हैं हमे अपनी कमज़ोरियों पर काबू करना सीखाते हैं I उदाहरण के तोर पे हम हेलेन किलर का नाम ले सकते हैं I हेलेन किलर ने अपनी कमज़ोरी को अपनी ताक़त मे बदल दिया और दुनिया को एक नयी शक्ति से  परिचित कराया I नेत्रहीनता पे विजय पा के उन्होने अपने सपनो को साकार किया I उनके सपनो को साकार करने के लिए उनकी माताजी और अध्यापिका ने उनका पूरा सहयोग दिया I इसी प्रकार हम भी अपने सपनो को साकार कर सकते हैं ; ज़रूरत है तो सिर्फ़ एक सही कदम उठाने की I अगर मन मे प्रबल इच्छा हो और कुछ कर दिखाने की चाह हो तो हम कुछ भी कर सकते हैं I

“कोशिश करने वालो की कभी हार नही होती”
कोशिश करने वालो के रास्ते मे अड़चने ज़रूर आती हैं लकिन उनके रास्ते खुद ब खुद बनते चले जाते हैं I पक्के होसले और निश्चय हों तो मंज़िल खुद हमारे पाँव चूमेगी I कहा भी गया है:
“ हिम्मते मर्दा मददे खुदा ”
इसीलिए सपने तो हर मनुष्य को देखने चाहिए क्योकि सपने ही हमारे लक्ष्य को निर्धारित करते हैं और जीवन जीने की प्रेरणा देते हैं I


 

1 comment:

  1. अरुण जी आपके द्वारा बताई गयी बाते बहुत ही यथार्थ है| आप ऐसी ही महत्वपूर्ण जानकारियां अब शब्दनगरी पर भी प्रकाशित कर सकते हैं| जिससे यह और भी पाठकों तक पहुंच सके|

    ReplyDelete