Law of attraction समय अच्छा है या बुरा इसलिए है क्योंकि आकर्षण का नियम काम कर रहा है।

                  जीवन एक तराजू है।


Law of Attraction
दोस्तों आपको जीवन में किसी दौर पर ऐसा लगा होगा की आपके सितारे बुलंद है या आपकी किस्मत बहुत अच्छी है आपके जीवन में एक के बाद एक अच्छी चीजे होती जा रही है आप बहुत खुश  है इसका एक मात्र  कारण है की आपके इस समय विचार  और भावनाऐ पॉजिटिव होते है और आप ज्यादा प्यार दे रहे होते है इसलिए आप ज्यादा अच्छी चीजे अपने जीवन में आकर्षित कर रहे होते है।

इसके विपरीत आपके जीवन में ऐसा भी दौर आया होगा जब कोई  समस्या आ गई और समस्याऐ  बढ़ती चली गई  ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि  इस समय आपके विचार और भावनाऐ  नैगेटिव  होते है ऐसे में आप बदकिस्मती  का दौर या किस्मत ख़राब मान लेते है दोस्तों यह बात अच्छी तरह जान ले इसमे किस्मत का कोई लेना देना नहीं है

 समय अच्छा है या बुरा इसलिए  है क्योंकि आकर्षण का नियम पूरी तरह से आपके जीवन में काम कर रहा होता है।

मान लेते है कि  जीवन एक तराजू और इसके एक पलड़े में 50 % सकारात्मक विचार और भावनाऐ  है दूसरे पलड़े में 50 % नकारात्मक विचार और भावनाऐ  है अगर ऐसा है तो आपका जीवन ठीक - ठाक चल रहा है।
अगर थोड़ी सी भी नकारात्मकता बढ़ती है तो आप नकारात्मक परिस्थितियों , हालतो ओर  लोगो को अपनी ओर  आकर्षित करने लगेंगे।

इनके विपरीत 1 % भी सकारात्मकता बढ़ती है यानि 51 % हो जाती है तो आप सकारात्मक परिस्थितियों , हालतो ओर  लोगो को  आकर्षित करने लगेंगे।

ध्यान दे 51 %अच्छे विचार और भावनाऐ  देकर आप अपना जीवन बदल सकते है। खुशकिस्मती के दौर या बदकिस्मती के दौर का इकलोता कारण यही है कि  आप ने किसी बिन्दु पर अपनी भावनाऐ  बदलकर तराजू का एक पलड़ा झुका दिया अपने जीवन को बदलने के लिए आपको सिर्फ इतना करना है अपने विचार और भावनाओ में सबको प्यार करना है। प्रशंसा करनी है और जो भी परिस्थिति या हालत है उनका शुक्रिया अदा करना है ऐसे करने से आप तराजू का एक पलड़ा सकारात्मकता की तरफ झुका देते है एक बार जब आप  सकारात्मकता का एक पलड़ा अपनी और झुका लेते है तब आप अनुभव करेंगे अच्छी चीजो की आने की रफ़्तार बढ़ गई  है।

                   "भाग्य को बदलना है तो भावनाऐ  को बदलिये।"                                                                     Arun Saraf

जब हम सुबह उठते है तो हमारे हाथ में एक तराजू होता है इसमे एक तरफ खुशिया और दूसरी तरफ समस्याऐ है। अब आपको तय करना है कि  आपका दिन कैसा होगा आपके विचार और भावनाओ के द्वारा  आप जो भी भावनाऐ  महसूस कर रहे होते है वही  दे रहे होते है।

यदि आप खुशी  की भावना से दिन कि शुरुआत करते है तो आप दिन भर ख़ुशी महसूस करते रहेंगे और आपका दिन अच्छा होगा।  इसके बिपरीत अगर आप बुरी भावनाओ  से दिन कि शुरुआत करते है तो आपको दिन समस्याओ से भरा होगा।

अच्छी भावनाओ वाले एक दिन से केवल आपका दिन ही नहीं बदलता आपका जीवन भी बदल सकता है पर शर्त यही है आप अच्छी भावनाऐ  बनाऐ  अच्छी भावनाऐ  के साथ सोने जाए और दिन की शुरुआत अच्छी भावनाओ और बातो से करे जब आप ज्यादा से ज्यादा अच्छा महसूस करते रहेंगे तो आकर्षण  के नियम के द्वारा  आपकी अच्छी भावनाऐ  बढ़ती जाएगी और आपका जीवन बेहतर से बेहतरीन होता जाता है।

अंत में मैं इतना ही कहूँगा

"बाहरी परिस्थितयों  को बदलने के लिए पहले अंदरुनी परिस्थितयों  को बदलना होगा। "                                                            Arun Saraf

Must Watch


                                                  

1 comment:

  1. very informative post for me as I am always looking for new content that can help me and my knowledge grow better.

    ReplyDelete