Habits 5 ऐसी आदतें जो रखेंगी हमेशा ख़ुश

                          5 ऐसी आदतें जो रखेंगी हमेशा ख़ुश

success
आदतें, हमारी ज़िन्दगी का एक ऐसा हिस्सा हैं जिससे कोई भी अलग नहीं हो सकता, आदतें सिर्फ़ किसी के व्यक्तित्व को ही नहीं बनाती हैं बल्कि  हमें ख़ुश या परेशान भी कर सकती हैं।ज़्यादातर लोग अपनी ज़िन्दगी इस इंतज़ार में गुज़ार देते हैं कि ‘ अगर हमारे पास पैसा होता’ या ‘हम खुबसुरत होते ‘ तो हम ख़ुश होते, अगर आप भी ऐसा ही कुछ सोचते हैं तो आपको ख़ुश रहने के लिये इन सबका इंतज़ार करने की कोई ज़रूरत नहीं हैं, बस कुछ आसान सी आदतों को अपनाकर भी आप ख़ुश हो सकते हैं!
मैं आपको बताने जा रहा हूँ। 5 ऐसी आदतें जो आपकी ख़ुशियों की चाबी बन सकती है, लेकिन उससे पहले एक बात हमेशा याद रखिये;

                “ख़ुशी हमारे अंदर है बाहर नहीं। ”


1 . सकरात्मक सोचें

नज़रिया किसी की भी ज़िन्दगी में बहुत अहम होता है और हमारा नज़रिया हमारी सोच पर निर्भर करता है, अब पानी का गिलास भी वही है और पानी भी वही पर किसी को आधा गिलास ख़ाली नज़र आता है तो किसी को आधा भरा.…हमारी यही सोच हमें आशावादी या निराशावादी बनती है! वैज्ञानिक तौर पर भी यह माना गया है कि सकरात्मक सोच वाले लोग हमेशा ख़ुश रहते हैं, इसलिए सकरात्मक सोच को अपनी रोज़ की आदतों का हिस्सा बना लीजिये फिर नज़र तो वही रहेगी पर नज़रिया बदल जायेगा !

2. अपने शौक को अपनी आदत बनाएं

ज़िन्दगी की भागदौड़ और खुशियों की तलाश में अक्सर हम उन चीज़ो को अनदेखा कर देते हैं जो हमें ख़ुशी देती हैं, जैसे हमारे वो खुबसुरत शौंक जो हमें ख़ुश रखने के साथ -साथ तनावमुक्त भी रखते थे, चाहे वो डांस, म्यूजिक , गाना , संगीत या कुकिंग ही क्यों न हो पर हमारी ख़ुशी की वजह थे, इसलिए अपने शौंक को एक बार फिर अपनी आदत बनाएं !

3. दूसरों की मदद करें

आपने अपनी ज़िन्दगी में कभी न कभी किसी न किसी की निस्वार्थ मदद तो ज़रूर की होगी फिर चाहे किसी बुज़ुर्ग को सड़क पार करवाना हो या किसी जरूरतमंद को अपनी सीट देना,कहीं न कहीं इस एहसास से सब वकिफ़ हैं, इसलिए हम सब ये कह सकते हैं कि जो ख़ुशी किसी की मदद करने में मिलती है शायद ही कभी अपने जन्मदिन के जशन में मिली हो या कोई महँगी कार तोहफ़े में पाकर ! दूसरों की मदद में ख़र्च किया गया समय हमारी ख़ुशी को कई गुणा बढ़ा सकती हैं ! इसलिए रोज़ किसी की मदद करें, ये आपको ख़ुशी देगा और ख़ुद पर फ़र्क महसुस करने की वजह भी !

4. ईमानदार बनें

जब भी हम झूठ बोलते हैं हमारे तनाव का स्तर कुछ बढ़ जाता है, इससे हमारे आत्मविश्वास को भी ठेस पहुँचती है और अगर झूठ पकड़ा जाए तो न सिर्फ़ हमारे सम्बंधो पर बुरा असर पड़ता है बल्कि हमारे आत्मविश्वास को भी क्षति पहुँचती है, दूसरी तरफ़ सच हमारा आत्मविश्वास भी बढ़ाता है और हम पर दूसरों का भरोसा भी, इसलिए ईमानदार बनें स्वयं के साथ और दूसरों साथ भी क्योंकि सच हमेशा तनावमुक्त और ख़ुश रखता है।

5. जिनसे भी मिलें तोहफ़ा दें

यहाँ तोहफ़े से मेरा मतलब आपकी मुस्कुराहट से है ! सबसे खुले दिल से और मुस्कुरा कर मिलें, इससे आप किसी को कुछ न देकर भी बहुत कुछ दे जाएंगे, आख़िरकार किसी की हौसलाफ्जाई करना , उम्मीद देना, ख़ुशी देना भी तो जॉय ऑफ़ गिविंग ही है न, इसलिए तंग दिल न बनें जिससे भी मिलें मुस्कुरा कर मिलें!
ये पांच आदतें आपकी ख़ुशियों की वो कुंजी है जो हमेशा आपको ख़ुश रखेंगी क्योंकि ख़ुशी पैसे से या खुबसुरत होने से नहीं मिलती, ख़ुशी हमारे अंदर ही है और उन ख़ुशियों की चाबी भी हमारे ही पास है !

 

No comments:

Post a Comment