अपने भीतर झाँक



एक मैनेजर अपने स्टाफ के साथ बुरा व्यवहार करता था। उसका मानना था कि स्टाफ के लोग बहाने बनाते हैं और अपने कार्य को कुशलता  से नहीं करते।

एक दिन उसने एक मीटिंग के दौरान कहा- “मैं आप लोगों के बहानो और घटिया काम से तंग चुका हूँ। अगर आप लोग ठीक से काम नहीं कर सकते, तो मैं नए लोगों को काम पर रख लूंगा।

फिर चाय का घूँट भरते हुए उसने कहा- “आप लोग जानते हैं ना कि जब कोई क्रिकेट टीम लगातार हारने लगती है, तो क्या किया जाता है!”
इस सवाल को सुन कर एक कर्मचारी ने तपाक से जवाब दिया- “सर, जब पूरी टीम का कोई भी खिलाड़ी ठीक ढंग से नहीं खेल पा रहा हो, तो आमतौर पर कोच को बदल दिया जाता है।

कर्मचारी का जवाब सुन कर मैनेजर बहुत लज्जित हुआ, और मीटिंग छोड़ कर बाहर चला गया।
एक अच्छा नेता वही है, जो दूसरों के साथ-साथ अपने में भी सुधार लाऐ।

No comments:

Post a Comment