भाग्य उनकी मदद करता है, जो अपनी मदद खु़द करते हैं

.
एक कस्बे में बाढ़ आई। एक आदमी के सिवा वहाँ रहने वाला हर आदमी किसी सुरक्षित स्थान पर जा रहा था। जिस आदमी ने अपनी जगह नहीं छोडी़, उसका कहना था, “मुझे विश्वास है कि भगवान मेरी रक्षा करेगा।” पानी का स्तर बढ़ने पर उसे बचाने के लिए एक जीप आई। पर उस आदमी ने यह कह कर जाने से इन्कार कर दिया, “मुझे विश्वास है कि भगवान मेरी रक्षा करेगा।” पानी का स्तर और बढ़ने पर वह अपने मकान की दूसरी मंजिल पर चला गया। तब उसकी मदद करने के लिए एक नाव आई।
.
उस आदमी ने उसके साथ भी यही कह कर जाने से इनकार कर दिया कि “मुझे विश्वास है, भगवान मेरी रक्षा करेगा।” पानी का स्तर बढ़ता जा रहा था। वह आदमी अपने मकान की छत पर चला गया। उसकी मदद के लिए हेलीकाप्टर आया। लेकिन उस आदमी ने अपनी वही बात फिर दुहराई “मुझे विश्वास है, भगवान मेरी रक्षा करेगा।” आखि़रकार वह डूब कर मर गया। भगवान के पास पहुँचने पर उसने उनसे गुस्से भरे लहजे़ में सवाल किया, “मुझे आप पर पूरा विश्वास था, फिर आपने मेरी प्रार्थनाओं को अनसुना कर मुझे डूबने क्यों दिया?” भगवान ने जवाब दिया, “तुम क्या सोचते हो- तुम्हारे पास जीप, नाव और हेलीकाप्टर किसने भेजा था?”
.

No comments:

Post a Comment